loading...
loading...
Home » , , , , , , , » बड़ा लंड की प्यासी आंटी की चुदाई कहानी

बड़ा लंड की प्यासी आंटी की चुदाई कहानी

Bada Lund Ki Pyasi Aunty Ki Kamvasna Desi xxx Chudai Antarvasna Hindi Sex Stories,आंटी चुदाई की कामुक कहानी,Thuk Laga Ke Aunty Ki Nangi Moti Gand Mari,आंटी की जमकर चुदाई,थूक लगा के आंटी की बुर चोदा,Aunty ke sath sex ki kahani with chudai ki nangi photo,

आंटी की उम्र करीब ४५ साल होगी. फिर वह आंटी का नंबर आया और मैं उनके पीछे था तो मेरी बॉडी अनजाने में उसकी बॉडी से थोड़ी टच हो गई.मेरा मतलब मेरा लंड उनकी गांड पर टच हुआ तो वह तुरंत पीछे मुड़ी तो ओह माय गॉड इतनी सेक्सी थी, इतनी सुंदर लेडी मेने अपनी जिंदगी में कभी नहीं देखी थी, उसने मुझे देखा फिर वह अपना ऑर्डर ले कर चली गई और कैंटीन से थोड़ी दूर जा कर खड़ी हो गयी थी.फिर मैं भी अपना आर्डर रेडी होने के बाद ले कर चला गया पर मेरी नजर सेक्सी आंटी पर पड़ी, मैंने सोचा यही थोड़ी दूर उसके सामने ही नाश्ता कर लेता हूं जिस से उसके दर्शन मुझे होते रहे. मैं अपना नाश्ता कर रहा था उतने में वह अपना नाश्ता कर के चली गई और जाते जाते उसने अपने पर्स में से कोई पेपर का टुकड़ा डाल दिया और वह मैं देख गया. मेने देखा की वह कागज का टुकड़ा डालते वक्त उसकी नजर मेरी तरफ थी.
aunty ki chudai desi xxx hindi story
बड़ा लंड की प्यासी आंटी की चुदाई कहानी


उसके जाने के बाद मैं दौड़कर गया और वह पेपर का टुकड़ा उठा कर देखा तो उसमें मोबाइल नंबर लिखा हुआ था और साथ में टाइम भी लिखा हुआ था, मैं समझ गया की लॉटरी लग गई. मैंने देखा तो उसमें अगले दिन सुबह के १० का टाइम लिखा हुआ था. फिर मैंरे रिलेटिव्स की फ्लाइट का टाइम हुआ और वह चले गए और हम अपने घर वापस आ गये. में घर पर आकर के उसी के बारे में सोच रहा था और  मैं १० बजने का इंतजार कर रहा था, और जैसे ही १० हुए तो मैंने कॉल किया और वह आंटी ने कॉल उठा कर बोला.

आंटी ने कहा : हेलो.

मैंने कहा : हेलो.

आंटी ने पूछा : तुम्हारा नाम क्या है?

मैंने कहा : मेरा नाम अनुराग पटेल है.

आंटी ने कहा : मेरा नाम रीता है.

मैंने कहा : आंटी क्या आपको मुझसे कुछ काम था?

आंटी ने कहा : हां काम है इसलिए तो नंबर दिया है.

मैंने कहा : क्या सेवा कर सकता हूं?

आंटी ने कहा : फोन पर सेवा नहीं हो सकती ऐसी सेवा करवानी है.

मैं एकदम से शोक्ड हो गया कि कोई औरत इतनी बोल्ड और डाइरेक्ट कैसे बोल सकती है?

मैंने कहा : आप बताओ कहां मिलना है?

आंटी ने कहा : ये एड्रेस पर आ जाना, उसने मुझे कैपिटल सिटी गांधीनगर का एड्रेस दिया और शाम का टाइम दिया.

मैंने कहा : ठीक है मैं आ जाऊंगा.

वह एक गुजराती आंटी थी और मैं भी गुजराती हु. और गुजराती लेडी मतलब सेक्स लेडी और अच्छी बॉडी फिगर और उनको चोदने में जो मजा है, वह किसी में भी नहीं हे. मैं भी गुजराती हु. शाम को ६ बजे मैं वह एड्रेस पर पहुंच गया और १० मिनट बाद वह आ गई.फिर हम गांधीनगर के एक फेमस आइसक्रीम पार्लर में गए उसकी कार में वह होंडा सिटी कार में आई थी. और उसने ब्लैक कलर साड़ी पहनी हुई थी. इतनी खूबसूरत की गाड़ी में ही उसे चोद डालू. फिर वह मुझे कोई फेमस आइसक्रीम पार्लर पर ले गई और आइसक्रीम पार्लर वाले भी हम लोगों को देख रहे थे. फिर हम आइसक्रीम खाते खाते एक दूसरे के बारे में पूछने लगे. तब मुझे पता चला कि उसकी हस्बेंड बहुत अमीर है और वह एक अच्छी पोस्ट पर जॉब करते हैंफिर आइसक्रीम पार्लर से हम वापस कार में बैठ गए और निकल पड़े और वह मुझे एक दूसरे सिटी ले गई, उसने होटल में रूम बुक किया हुआ था और हम वहां ८  बजे पहुंच गए और आंटी ने बोला कि अपने घर बोल दो कि आज आपके फ्रेंड के घर रुकने वाले हो, मैंने वैसा ही किया. मेने घर कॉल कर के बोला घर वालों ने बहुत पूछा कि अचानक क्यों? और मैंने बहाना बना दिया और मेरे घर पर सब मान गए.ये सेक्स कहानियाँ,हिंदी चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर हम रूम में गए और रूम ब्लॉक कर दिया और आंटी अपने साथ एक बैग लाई हुई थी तो उसने वह बैग से एक नाइटी निकाली और सीधा बाथरुम चली गई और १० मिनट बाद वह आयी बहुत सेक्सी लग रही थी, वह बहुत खूबसूरत लग रही थी. वह मेरे पास आई और डायरेक्टली मुझे किस करने लगी और लिप लॉक कर दिया.वह किस १० मिनट तक चली और हमारा थूक भी एक एक दूसरे के मुंह के अंदर एक्सचेंज हुआ फिर मैं तुरंत उसके बूब्स दबाने लगा और वह मेरे लंड को निकालकर सहलाने लगी और फिर चूसने लगी मैंने सोचा कि इसको जल्दी से नंगा कर देता हूं. तो मैंने उसे तुरंत नंगा कर दिया, उसकी नाइटी निकाल दी और वह पैंटी और ब्रा में थी. पेंटि उसने लाल कलर की पहनी हुई थी और ब्रा वाइट कलर की थी.

फिर मैंने उसकी चूत चाटनी शुरू कर दी और वह इतनी एक्साइट हो गई कि वह आवाज निकालने लगी और वह आउट ऑफ कंट्रोल हो गई. और उसके हाथ से मेरा सर उसकी चूत में दबाने लगी, फिर उसकी चूत से पानी निकल गया और वह सारा मैं पी गया. और आंटी ने मेरे लंड हाथ में लेकर हिलाने लगी और फिर मुंह में लेकर चूसने लगी. मुझे तब पता चला कि गुजरात में भी आंटियां पड़ी है जो सब लोगों के नंबर गिरा दें. फिर उसने मुझे बोला कि अब नहीं रहा जाता तो मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और अपना लंड उसकी चूत पर सेट किया और जोर से धका मारा तो मेरा आधा लंड उसकी चूत में चला गया ओर एक दूसरा धक्का मारा तो पूरा का पूरा लंड अंदर चला गया, और उसके मुंह से चीख निकली की निकाल इसे.पर मैंने तो झटके मारना शुरू कर दिया रुम में लाइट चालू थी और वह क्या खूबसूरत लग रही थी? मैंने सोचा कि मोबाइल में फोटो क्लिक करु और उसने मुझे मना किया फोटो लेने से. फिर मेरे बहुत कोर्स करने के बाद उसने अपने बॉडी का पीछे का एक पिक दिया डॉगी स्टाइल में और उसका फेस छुपा लिया. फिर मैंने अपने झटके शुरू रखे और करीब १५ मिनट बाद हम दोनों झड़ गए और शांत हो गए और लेट गए.ये सेक्स कहानियाँ,हिंदी चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। फिर मैंने उससे उसकी फैमिली के बारे में पूछा तो उसके हस्बैंड गवर्नमेंट जॉब करते हैं और अच्छी पोस्ट पर है और वो आंटी भी बहुत अमीर फैमिली से है और उसके दो बच्चे भी हैं. उस दिन वह दोनों बच्चों को अपनी सिस्टर के घर रख कर आई थी और उसके हस्बैंड दिल्ली गए हुए थे. फिर हम दोनों फिर से गरम हो गए और एक दूसरे के लंड चूत को सहलाने लगे. मेरा लंड फिर से तन गया और हमने एक बार और चुदाई शुरू कर दी.मैं गुजराती हूं और उस दिन मुझे पता चल गया कि गुजराती औरतें भी बहुत सेक्सी होती हैं फिर उस दिन हमने ३ बार चुदाई की.फिर मैंने और आंटी को पूछा की आंटी गांड भी दे दो थोड़ी देर के लिए. वह मना करने लगी और फिर रेडी हो गई उसने अपने पर्स से एक बॉडी लोशन निकाला और मैंने उसे अपने लंड पर और उसकी गांड के होल पर लगा दिया, और अपना लंड उसकी गांड पर सेट किया और जोर से धक्का लगाया पर आधा ही लंड अंदर गया, और फिर दो झटके में वह पूरा अंदर चला गया और वह चिल्लाने लगी. पर मैंने उसे इंजॉय कराया पर वह संतुष्ट हो गई. थोड़ी देर में रात के १ बज गए. फिर हम वैसे के वैसे ही नंगे लेट गये. सुबह भी हमने अलग अलग पोजीशन में चुदाई की और ८ बजे हम लोग ने रूम चेक आउट कर लिया.ये सेक्स कहानियाँ,हिंदी चुदाई की कहानी डॉट कॉम पर पड़ रहे है। कार में बैठते वक्त आंटी ने मुझे १०००० रूपये दिए और मुझे कहा कि मेरा रिग्युलर ख्याल रखना. मैंने कहा आंटी पैसों की जरूरत नहीं है, फिर भी उन्होंने फोर्स किया तो मुझे रखने पड़े. फिर मैंने कहा एनीटाइम आंटी सिर्फ कॉल कर देना.फिर मैंने आंटी से उनका घर दिखाने को बोला और पर आंटी ने मुझे बताया कि उनका घर गांधीनगर में है पर वह नहीं बता सकती. पर उन्होंने मुझे प्रॉमिस किया कि वह मुझे कॉल करेगी जब भी उनकी चूत मरवानी होगी. तब फिर उन्होंने मुझे अहमदाबाद ड्राप कर दिया और वह अपने बच्चों को अपनी सिस्टर के यहां से ले कर चली गई अपने घर.अब महीने में तीन चार बार उनका कॉल आता है और हम कोई ना कोई होटल में इंजॉय करते हैं. हमने गुजरात के बहुत सीटी में इंजॉय किया है और अब वह मुझे उसकी सिस्टर से चुदवाना चाहती है और वह मिशन चालू है. आंटी बहुत ही अमीर फैमिली से है पर वह अपने हस्बैंड से सेटिसफाइड नहीं है.कैसी लगी आंटी की चुदाई कहानी , अच्छा लगी तो जरूर रेट करें और शेयर भी करे ,अगर कोई मेरी आंटी की चुदाई करना चाहते हैं तो उसे ऐड करो Bada lund ki pyasi aunty

1 comments:

loading...
loading...

Chudai ki xxx kahani,hindi sex kahani,chudai kahani,chudai ki story

Delicious Digg Facebook Favorites More Stumbleupon Twitter